ममता बनर्जी के करीबी नेता ने किया खुलासा, TMC में वापसी को तैयार हैं…

4

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे आए काफी वक्त गुजर चुका है। इतने दिनों में तृणमूल कांग्रेस से भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए कई नेता और कार्यकर्ताओं ने माफी मांगते हुए घर वापसी की बात कह डाली है। कई नेता ममता बनर्जी के पास वापस लौट भी चुके हैं।

तृणमूल कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए कई और बड़े नेताओं की भी वापस तृ;णमूल कांग्रेस में लौटने की अ;टकलें लगाई जा रही हैं। इनमें से सबसे बड़ा नाम कभी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बेहद करीबी रह चुके मुकुल रॉय का भी है। हालांकि उन्होंने खुद अपने इरादे को लेकर अभी तक कोई सफाई नहीं दी है। और ना ही भाजपा या तृणमूल कांग्रेस की ओर से कोई उनकी वापसी को लेकर सीधे कुछ कह रहा है।

तृणमूल कांग्रेस के एक सांसद और पार्टी के वरिष्ठ नेता सौगत राय ने जो भी कुछ कहा है। उससे तो यही अंदाजा लगाया जा रहा है कि मुकुल रॉय कभी भी भाजपा को झटका दे सकते हैं। पूर्व रेल मंत्री मुकुल रॉय वापस ममता बनर्जी के साथ जाएंगे या नहीं इस समय यह सवाल बंगाल की राजनीति में चर्चा का विषय बना हुआ है।

खुद मुकुल रॉय ने कुछ कहा तो नहीं है, लेकिन उनके मन में कुछ न कुछ चल तो जरूर रहा है। मसलन, पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष होते हुए भी कोलकाता में पार्टी की बैठक में उनका नहीं पहुं;चना इसी का संकेत हो सकता है। हालांकि, भाजपा और टीएमसी अबतक इस मसले पर चुप्पी ही साधे हुए और खुद रॉय का मौन दुविधा को और बढ़ा रहा है।

लेकिन, अब टीएमसी सांसद सौगत रॉय ने जो कुछ कहा है, उससे जाहिर हो रहा है कि भाजपा नेता कभी भी को बड़ा सियासी ब’म फो’ड़ सकते हैं। उन्होंने एनडीटीवी से कहा है, ‘कई लोग हैं जो अभि;षेक बनर्जी के साथ संपर्क में हैं और वो वापस आना चाहते हैं। मुझे लगता है कि जब पार्टी को जरूरत थी, तब उन्होंने उसे धोखा दिया है।’

इसके बाद तृणमूल कांग्रेस के नेता सौगत राय ने जो कुछ कहा है। उससे यह साफ इ;;शारा मिल सकता है कि मुकुल रॉय और ममता बनर्जी या उनके किसी दूसरे करीबी के बीच कुछ डीलिंग चल रही है। सौगत राय ने ये भी साफ कर दिया है कि इस मामले में आखिरी फैसला मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ही ले सकती हैं।