BJP

BJP की पूर्व CM ला सकती हैं राजस्थान में सियासी भूचाल, भाजपा से अलग कर…कांग्रेस में ..

राजस्थान में भले ही कां’-ग्रेस के बीच सियासी संकट चल रहा हो। लेकिन भारतीय जनता पार्टी की भी मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही हैं। यह मु’-श्किलें बढ़ाने वाले और कोई नहीं बल्कि भाजपा के ही कुछ नेता है। बताया जा रहा है कि रा’जस्थान की पूर्व मु’-ख्यमंत्री और भाजपा नेता वसुंधरा राजे और पार्टी के बीच कुछ अनबन चल रही है।

जिसके चलते ही व;सुंधरा राजे अपनी एक अलग राज’-नीतिक पार्टी बनाने की योजना भी बना रही है। दरअसल राजस्थान के पूर्वी इलाके में दो दिवसीय लंबी धार्मिक यात्रा के दौरान भाजपा नेता वसुंधरा राजे ने अपनी दिवंगत मां विजयाराजे सिंधिया और खुद की जम;कर प्रशंसा की। लेकिन पीएम मोदी द्वारा शुरू की गई नीतियों के बारे में किसी भी तरह की बात करने से परहेज किया।

इसके अलावा वसुंधरा राजे की यात्रा में निर्दलीय विधा;यक ओम प्रकाश हुडला और विधायक राजेंद्र गुड्डा की उप;स्थिति में भी अटक’लों का बाजार गर्म कर दिया है। आपको बता दें कि वसुंधरा राजे कि इस धार्मिक यात्रा के बाद सियासी ग’लियारों में यह चर्चा तेज हो गई है कि क्या वह अपनी पार्टी बनाने की तैयारी में जुट गई है।

दरअसल एक समांतर संगठन टीम वसुं’धरा राजे बीते कुछ महीनों से पहले ही सोशल मीडिया पर का;फी सक्रिय हैं और वक्त वक्त पर जिला’ध्यक्ष और राज्य स्तरीय पदाधिकारियों की घोषणा भी की जाती रही है। दरअसल भाजपा के राष्ट्रीय अध्य’क्ष जेपी नड्डा की कुछ दिन पहले हुई जय’पुर यात्रा के बाद शक्ति प्रदर्शन हुआ था। जेपी नड्डा ने अपनी यात्रा के दौ’रान भाजपा के सभी नेताओं से आत्म विश्ले’षण करने के लिए कहा था।

लेकिन वसुंधरा राजे ने पार्टी नेतृत्व के इस संदेश की खुले तौर पर अन’देखी की थी एक भाजपा कार्यकर्ता ने आईएएन’एस से बात करते हुए कहा कि यात्रा के दौरान, राजे ने भाजपा की नीति’यों पर भी बात नहीं की लेकिन अपनी और अपनी मां की प्रशं’सा करती रहीं। ऐ;सा लगता है कि वह केंद्रीय नेतृत्व को खुली चुनौती दे रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *